अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन अधिकारी का दावा हवा हवाई।

जौनपुर . धडल्ले से चल रही केमिकल व कलर मिलावट मिस्ठान की दुकान एवं बिना लाईसेंस के चल रहे मेडिकल स्टोर हो रही प्रतिबंधित दवाओं की धडल्ले से बिक्री ।


   एक मिस्ठान दुकान दार अपना नाम न लिखने की शर्त पर बताया की रक्षाबंधन व दिवाली पर साहब आते है छोटी दुकान से 2500 व बडी दुकान से 5000 लेकर जाते है व साहब कहते है जैसे मर्जी है बेचो कोई नहीं आयेगा । सूत्रों से मेडिकल स्टोर से भी छोटा बडा जैसा मेडिकल स्टोर है छोटे से 2000 से 5000 तक व बडे मेडिकल स्टोर से 10000से 25000 तक सालाना वसुला जाता है ।


   चाहे लाईसेंस हो या न हो या प्रतिबंधित दवा की बिक्री हो साहब सोते रहेगे ।दशकों से देखा जा रहा है कि अभिहित अधिकारी खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन का दावा हवा हवाई साबित हो रहा है ।


   आम जनता मिस्ठान मे कलर व केमिकल के मिलावट से तरह तरह रोगों का शिकार हो रही है ।झोलाछाप बिना लाईसेन्स के मेडिकल स्टोर वाले बिना डाक्टर के लिखे मनमानी तौर से दवा बेच रहे है व खुद डाक्टर बन बैठे है । पुरे जिले की ऐसी हालत बनी है ।जनता त्रस्त अधिकारी मस्त जौनपुर में ।। सरकार चाहे जो हो ।