जल्द खुलेगा RSS का पहला आर्मी स्कूल, सेना में अधिकारी बनाने की दी जाएगी ट्रेनिंग


   सूत्रों के अनुसार स्कूल का नाम रज्जू भैया सैनिक विद्या मंदिर होगा। यह नाम आरएसएस के पूर्व सरसंघचालक राजेंद्र सिंह उर्फ रज्जू भैया के नाम पर रखा गया है। रज्जू भैया सैनिक विद्या मंदिर की पहली शाखा उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के शिकारपुर में खोला जाएगा। यहां पर साल 1922 में आरएसएस के पूर्व सरसंघचालक रज्जू भैया का जन्म हुआ था।



  नई दिल्ली। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) अगले साल यानी 2020 से सेना स्कूल खोलने की तैयारी कर रहा है। यहां भारतीय सशस्त्र बलों में अधिकारी बनने के लिए बच्चों को प्रशिक्षित किया जाएगा। इन स्कूलों को आरएसएस की शिक्षा शाखा विद्या भारती चलाएगी।





  सूत्रों के अनुसार स्कूल का नाम रज्जू भैया सैनिक विद्या मंदिर होगा। यह नाम आरएसएस के पूर्व सरसंघचालक राजेंद्र सिंह उर्फ रज्जू भैया के नाम पर रखा गया है। रज्जू भैया सैनिक विद्या मंदिर की पहली शाखा उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर जिले के शिकारपुर में खोला जाएगा। यहां पर साल 1922 में आरएसएस के पूर्व सरसंघचालक रज्जू भैया का जन्म हुआ था।

 


लड़कों के लिए आवासीय विद्यालय का निर्माणकार्य हो रहा है। विद्या भारती यहां पाठ्यक्रम के रूप में केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) को अपनाएगी। इसमें छठी कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा तक के छात्र होंगे। संभावना जताई जा रही है कि अप्रैल 2020 से कक्षाएं शुरू हो जाएंगी।



अधिकारियों ने बताया कि अगर यह प्लान कामयाब रहता है तो जल्द ही इसी तरह के की स्कूल खोले जा सकते हैं। अधिकारियों के अनुसार इस विद्यालय को लेकर विद्या भारती ने विवरणिका (प्रॉस्पेक्टस) तैयार कर लिया है। संभावना है कि अगस्त-सितंबर से नामांकन के लिए आवेदन भी मंगाए जा सकते हैं। ज्ञात हो कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शिक्षा शाखा विद्या भारती पूरे देश में 20 हजार से ज्यादा स्कूलों को चलाती है।