कावर मार्गों सहित शिवालयों के आस-पास सुरक्षा के चाक-चौबंद होंगे-एडीजी

वाराणसी


*प्रयागराज से वाराणसी रूट पर डायवर्जन के दौरान बड़ी वाहनों के पार्किंग व्यवस्था हेतु भी जगह चिन्हित किया जाए- बृजभूषण*


*श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में बाबा भक्तों को बेहतर से बेहतर सुविधा मुहैया कराई जाए- कमिश्नर*


*कावर मार्ग के क्षतिग्रस्त स्थलों को पूरी तरह दुरुस्त कराया जाए- दीपक अग्रवाल*


*बाबा भक्तों को किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं होनी चाहिए*



17 जुलाई से 15 अगस्त तक एक माह तक चलने वाले श्रावण मास के दौरान श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में आने वाले दर्शनार्थियों को बेहतर से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराए जाने के साथ ही श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की परेशानी न होने देने की कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने अधिकारियों को निर्देश दिया है। उन्होंने मंदिर परिसर एवं आसपास मजबूत बैरिकेटिंग के साथ ही बिजली के तारों को दुरुस्त कराये जाने का निर्देश दिया।
श्रावण मास की तैयारियों के संबंध में कमिश्नरी सभागार में गुरुवार को आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए एडीजी बृजभूषण ने विशेष रूप से जोर देते हुए एनएचआई, लोक निर्माण विभाग एवं नगर निगम के अधिकारियों को कावर मार्ग से संबंधित अपने अपने क्षतिग्रस्त सड़कों को दो-तीन दिन के अंदर अभियान चलाकर हालत में दुरुस्त कराए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने टेंगरा मोड़ चौराहा, टेंगरा मोड़ से डाफी तक, राजातालाब अंडरपास एवं मोहनसराय से कछवा मार्ग को तत्काल दुरुस्त कराए जाने हेतु एनएचआई के अभियंता को निर्देशित किया। इसी प्रकार गोलगड्डा तिराहा, जलालीपुरा क्रॉसिंग, जीवनाथपुर, दुर्गाकुंड चौराहा, बीएचयू-नरिया मार्ग, लंका, आकाशवाणी- महमूरगंज मार्ग, सिगरा चौराहा, कैंट-सिगरा मार्ग, अंधरापुल से कैंट मार्ग, रोडवेज के पास, आशापुर से काली माता मंदिर, अमरा-आखरी से भिखारीपुर तक तथा चौकाघाट से अंधरापुल तक जलजमाव के कारण हुए क्षतिग्रस्त सड़क का मरम्मत कराए जाने हेतु लोक निर्माण विभाग के अभियंता को निर्देशित किया। श्रावण मास के दौरान बनाए जाने वाले कंट्रोल रूम में नगर निगम, विद्युत, जलनिगम, जल संस्थान, खाद्य सुरक्षा आदि विभागों के अधिकारियों की उपस्थिति सुनिश्चित कराया जाए। मैदागिन से गोदौलिया होते हुए सोनारपुरा तक नो-वेहिकल्स जोन रहेगा।
कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने बताया कि श्रावण के सोमवार को श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में 24 घंटे दर्शन की व्यवस्था, झांकी दर्शन सहित सुगम दर्शन का व्यवस्था रहेगा। मैदागिन से गोदौलिया तक नो व्हीकल्स ज़ोन रहेगा। बैरिकेटिंग के प्रत्येक 100 मीटर पर श्रद्धालुओं के लिए पानी की व्यवस्था हेतु पानी के जार लगाए जाएंगे तथा कागज के गिलास भी उपलब्ध रहेंगे। मंदिर परिसर एवं आसपास 24 घंटे चाक चौबंद सफ़ाई व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने के लये 24 घंटे 8-8 घंटे की शिफ्ट में सफाई कर्मियों की तैनाती किये जाने का निर्देश दिया। साथ ही मंदिर में अधिकारियों की 8-8 घंटे की शिफ्ट में 24 घंटे ड्यूटी लगाये जाने का निर्देश दिया। गोदौलिया, मैदागिन, चित्तरंजन पार्क सहित मंदिर के पास एम्बुलेंस सहित चिकित्सक दवाओँ के साथ ड्यूटी पर तैनात रहेंगे। इसके अलावा कावर मार्ग के सामुदायिक एवं प्राथमिक चिकित्सालयों में 24 घंटे डॉक्टरों की उपस्थिति सुनिश्चित कराए जाने का भी निर्देश दिया गया। उन्होंने बताया कि इस बार कतार में खड़े बाबा भक्तो को "चल भोले" के सम्मान के साथ आगे चलने के लिए संबोधित किया जायेगा। पूरे मंदिर परिसर एवं आसपास का क्षेत्र "ॐ नमः शिवाय" के उद्घोष से गूँजता रहेगा। बैरिकेटिंग में भक्तो के किये मैटी भी बिछाई जाएगी। कांवरियों के आने वाले मार्गो पर स्थित होटल आदि में सामानों का रेट लिस्ट लगवाए जाने के साथ ही वहां पर खाद्य पदार्थों का जांच किया जाए। मंदिर के आस-पास चाक-चौबंद सफाई व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने का भी निर्देश निगम को दिया गया। मंदिर के आस-पास विद्युत के लटकते तारों को दुरुस्त कराए जाने के साथ ही विद्युत पोलों का भी परीक्षण किए जाने का निर्देश दिया। टाउन हॉल मैदान एवं चितरंजन पार्क में कांवरिया सेवा शिविर में आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराए जाने का भी निर्देश दिया गया। साथ ही कावर मार्गों पर जगह-जगह कांवरियों के लिए निजी संस्थाओं द्वारा लगाए जाने वाले सेवा शिविरों में आवश्यक व्यवस्थाओं के लिए संस्थाओं के पदाधिकारियों से वार्ता कर सुनिश्चित कराए जाने का निर्देश दिया जिला अधिकारियों को निर्देशित किया गया।
इस वर्ष श्रावण मास 17 जुलाई 2019 से आरंभ होकर 15 अगस्त 2019 को समाप्त होगा। श्रावण मास में श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में श्रावण मास के प्रथम सोमवार 22 जुलाई 2019 को भगवान शंकर का श्रृंगार, श्रावण मास के द्वितीय सोमवार 29 जुलाई को भगवान शंकर व मां पार्वती का श्रृंगार, श्रावण मास के तृतीय सोमवार व नागपंचमी 5 अगस्त 2019 को अर्धनारीश्वर का श्रृंगार, श्रावण मास के चतुर्थ सोमवार 12 अगस्त 2019 को रुद्राक्ष से श्रृंगार तथा 15 अगस्त 2019 रक्षाबंधन, पूर्णिमा को शिव-पार्वती एवं गणेश जी की चल प्रतिमाओं का झूला श्रृंगार होगा।
बैठक में आईं जी विजय सिंह मीणा, आईजी मिर्जापुर, आईजी आजमगढ़, जिलाधिकारी वाराणसी सुरेंद्र सिंह, जिलाधिकारी चंदौली नवनीत सिंह चहल, जिलाधिकारी जौनपुर अरविंद मल्लप्पा, एसएसपी वाराणसी आनंद कुलकर्णी के अलावा जिलों के पुलिस अधीक्षक, मुख्य कार्यपालक अधिकारी विशाल सिंह सहित एनएचआई, लोक निर्माण विभाग, नगर निगम, विद्युत, खाद्य सुरक्षा आदि विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।