उफान पर गंगा,डूबने लगी घाट की सीढ़ियां


वाराणसी। पहाड़ों पर हो रही बारिश व बनारस में लगातर तीन दिन से हो रही वर्षा के चलते गंगा का पानी उफान मारने लगा है।
गंगा में लगातार बढ़ाव होने से घाटों की सीढ़ियों पर पानी चढ़ने लगा है। अगर बढ़ाव ऐसे ही निरंतर जारी रहा तो जल्द ही घाटों का एक-दूसरे से सम्पर्क टूट जाएगा।
गंगा का जलस्तर एक सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। यह बढ़ाव कभी कम तो कभी तेज हो रहा है।
मानसून भी इन दिनों पूर्व यूपी व उत्तराखंड पर मेहरबान बना हुआ है। शहर में पिछले तीन दिनों व पहाड़ों पर लगातार हो रही भारी बारिश का असर गंगा व उसकी सहयाक नदियों पर पड़ा है।
गंगा में पानी बढऩे की रफ्तार कम नहीं हुई तो शहर के लिए खतरे की घंटी बज जायेगी। गंगा इस समय खतरे के निशान से तकरीबन 10 से 15 मीटर नीचे बह रही हैं।
जिस रफ्तार से गंगा बढ़ रही हैं उस अनुपात से वरुणा का जलस्तर नहीं बढ़ रहा है। इसके चलते लोगों को फौरी राहत मिली है। गंगा व वरुणा दोनों नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ता है तो सीमावर्ती इलाकों में बाढ़ आ जाती है।
यह खतरा तो बना हुआ है, लेकिन अभी स्थिति उतनी खराब नहीं हुई है।