देशभर में आज मनाया जा रहा ईद- उल- जुहा का त्योहार, J&K में सरकार ने किए विशेष इंतजाम


 नई दिल्ली,12 अगस्त । भारत समेत पूरी दुनिया में ईद- उल-जुहा  का त्योहार सोमवार को मनाया जा रहा है। यह पवित्र त्योहार कुर्बानी के त्योहार के रूप में जाना जाता है। ईद के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने देशवासियों को शुभकामनाएं दीं। उन्होंने इस त्योहार को साझी संस्कृति का प्रतीक बताया। वहीं, सरकार ने जम्मू-कश्मीर में ईद के लिए विशेष इंतजाम किए हैं। जम्मू-कश्मीर  में ईद से एक दिन पहले रविवार को लोगों ने जमकर खरीदारी की। बैंक, एटीएम और कुछ बाजार खुले रहे। खरीदारी के लिए प्रतिबंधों में ढील दी गई। प्रशासन की ओर से घरों पर गैस, सब्जियां और अन्य जरूरी सामग्री भेजी गईं। मस्जिदों में सोमवार को नमाज के लिए प्रशासन ने सुरक्षा कड़ी कर रखी है। सरकारी प्रवक्ता नेबताया कि लोगों की सुविधा के लिए प्रत्येक महत्वपूर्ण स्थान पर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद जम्मू-कश्मीर की यह पहली ईद है।
केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कश्मीरी गेट स्थित दरगाह में नमाज अदा की।
राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने रविवार को ईद-उल-जुहा की पूर्व संध्या पर देशवासियों को शुभकानाएं दी और इस त्योहार को साझी संस्कृति का प्रतीक बताया। कोविंद ने अपने सन्देश में कहा कि वह ईद-उल-जुहा के अवसर पर देश और विदेश में रहने वाले नागरिकों विशेषकर मुस्लिम भाईयों और बहनों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हैं। उन्होंने कहा कि यह त्यौहार प्रेम और भाई चारे तथा मानवता का प्रतीक है। हमें इसके सार्वभौमिक मूल्यों और साझी संस्कृति का पालन करना चाहिए। नायडू ने कहा कि इस त्योहार से लोग एक दूसरे के निकट आयेंगे और देश में शांति तथा सौहार्द मजबूत होगा और समृद्धि आयेगी।