मच्छोदरी बिजली संकट की जांच करेंगी एमडी अपर्णा यू

 


वाराणसी। 33/11 केवी मच्छोदरी उपकेंद्र के लिए 132 केवी उपकेंद्र लेढ़ूपुर से बिछाए गए 33 केवी के इनकमिंग मेन व स्पेयर केबल में फॉल्ट को लेकर नए सिरे से उच्चस्तरीय जांच की जाएगी। इसके लिए उत्तर प्रदेश पॉवर कॉरपोरेशन के चेयरमैन आलोक कुमार ने कॉरपोरेशन की ही एमडी अपर्णा यू को जांच अधिकारी नामित किया है। जांच के दायरे में वाराणसी क्षेत्र के पूर्व मुख्य अभियंता शैलेंद्र कुमार भी आएंगे। जबकि अन्य चार क्षेत्रीय अभियंताओं के खिलाफ भी जांच होगी। जिनके खिलाफ पूर्व में पूर्वांचल डिस्काम के एमडी गोविंद राजू एनएस ने कार्रवाई की थी।


मुख्य इनकमिंग केबल के अलावा स्टैंडबाइ केबल को लेकर लापरवाही बरतने के कारण ही 23 से 25 जुलाई तक मच्छोदरी उपकेंद्र से जुड़ी बड़ी आबादी को बिजली संकट झेलना पड़ा था। इसकी शुरूआती जांच के लिए 23 जुलाई को ही चेयरमैन के निर्देश पर तीन सदस्यीय जांच समिति यहां आई थी। मुख्यालय से मुख्य अभियंता हर्षमुंशी के नेतृत्व में आई समिति ने जांच की थी। जांच के दायरे में मच्छोदरी उपकेंद्र के पूर्व 33/11 केवी लेढ़ूपुर उपकेंद्र पर भी लगी आग की घटना में घंटों ठप रही आपूर्ति को भी ली गई थी।...