मोदी 👤सरकार का क्रांतिकारी बिल क्यों है आपके लिए खतरे की🔔 घंटी?

 


पीएम मोदी की अगुवाई वाली मोदी 2.0 को बड़ी कामयाबी मिली है। साल 2016 से ही मोटर वेहिकल एमेंडमेंट बिल को पास कराने का सपना लेकर चल रही नरेंद्र मोदी की सरकार को 2019 में कामयाबी मिली है। दरअसल मोटर वाहन संशोधन बिल राज्यसभा में भी पास हो गया है, जहां सरकार अल्पमत में थी। इससे पहले करीब 7 दिन पहले यह बिल लोकसभा में पास हुआ था, लेकिन तब राज्यसभा सरकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती थी।


इस बिल को लोकसभा में पेश करते हुए नितिन गडकरी ने विपक्ष के नेताओं से इस बिल को पास करने की अपील की थी। बिल अब राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद कानून की शकल ले लेगा। इसके बाद अब अगर कोई भी व्यक्ति ट्रैफिक के नियमों को तोड़ते हुए पाया गया तो उसे 10 गुना कर जुर्माना भरना पड़ सकता है। इसके अलावा कई मामलों में जेल तक हो सकती है।


दरअसल सड़क हादसों को रोकने के लिए मोदी सरकार यह बिल लेकर आई है। ऐसे में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यह बिल एक सराहनीय कदम है, लेकिन ट्रैफिक तोड़ने वालों के लिए यह सबसे बड़ी खतरे की घंटी है। इस बिल में हेल्मेट न पहनने पर अब आपको 100 रुपये की जगह 1000 रुपये का चालान भरना पड़ेगा।