प्लास्टिक का झंडा  खरीदना,बेचना दोनों  दंण्डनीय अपराध है।


 *वाराणसी,13 अगस्त,पर्यावरण व सीवर के लिए अभिशाप बने प्लास्टिक के खिलाफ पहले अखिलेश सरकार फिर योगी सरकार द्वारा पूर्णतया बैन लगाने के बावजूद सरकारी आदेश को ठेंगा दिखाते हुए बाजार में बिक रहे पॉलिथीन व 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस* पर प्लास्टिक के बने झंडे का पूर्णतया बहिष्कार एवं झंडे को इस्तेमाल करने के बाद इधर उधर ना फेकते हुए सुरक्षित स्थान पर रखने के अपील के साथ *सामाजिक संस्था सुबह-ए-बनारस क्लब* के बैनर तले *संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, संस्थापक अध्यक्ष विजय कपूर, समाजसेवी एवं उधमी  आर के चौधरी,डॉ० रितु गर्ग,एवं श्री हरिश्चंद्र बालिका इंटरमीडिएट कॉलेज की प्राचार्या डॉ० प्रियंका तिवारी,  के नेतृत्व में मैदागिन स्थित कालेज के परिसर में छात्राओं को प्लास्टिक के बने तिरंगे झंडे का बहिष्कार करने के साथ  दूसरों को भी  जागरूक करने का  शपथ दिलाई गई। उपरोक्त अवसर पर संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, संस्थापक अध्यक्ष विजय कपूर,  समाजसेवी एवं उधमी  आर के चौधरी, डॉ० रितु गर्ग, एवं कालेज की प्राचार्या डा०प्रियंका तिवारी,* ने कहा कि अक्सर देखा जाता है,कि  स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस पर प्लास्टिक के बने झंडों को बच्चों को थमा दिया जाता है। जो की अब पूर्णतया रूप से बैन हो चुका है। बाजार में कागज के बने झंडे होने के बावजूद अभी भी कहीं ना कहीं बाजार में प्लास्टिक के झंडे बिक रहे हैं। तो ऐसे में माता पिता के साथ परिजनों को भी ध्यान रखना है, कि वह ऐसे झंडे का बहिष्कार करते हुए बच्चों को सिर्फ कागज के बने झंडे खरीद कर दे। और बच्चों को यह हिदायत भी दे कि वह झंडे का इस्तेमाल करने के बाद उसे संभाल कर रखते हुए कहीं इधर उधर ना फेके बल्कि वह उसे अपने गार्जियन के सुरक्षित हाथों में सौंप दें।


    तिरंगे झंडे को इधर-उधर फेंक कर तिरंगे झंडे का अपमान न करें, यह अपराध की श्रेणी में आता है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से अध्यक्ष, मुकेश जायसवाल, संस्थापक अध्यक्ष,विजय कपूर,  समाजसेवी उधमी  आर के चौधरी, डा० रितु गर्ग, कॉलेज की प्राचार्या डॉ प्रियंका तिवारी, कोषाध्यक्ष, नंदकुमार टोपी वाले, उपाध्यक्ष, अनिल केसरी, हरीश अग्रवाल सहित सैकड़ों छात्राएं शामिल थी।