नरेंद्र मोदी हैं आजाद भारत के सबसे मजबूत प्रधानमंत्री-सर्वे


 मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल दो ऐतिहासिक फैसले लिये. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के विशेष प्रावधान को खत्म कर दिया और ट्रिपल तलाक कानून पास किया.


   इन दो फैसलों के बाद देश में ये बहस हुई कि ये मजबूत नेतृत्व का नतीजा है. यूूपी जागरण  न्यूज़ 100 दिनों कामकाज को लेकर एक सर्वे किया है जिसमें लोगों ने बताया है कि आजाद भारत के सबसे मजबूत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं. वहीं, इसमें इंदिरा गांधी दूसरे नबंर पर हैं.


यूूपी जागरण   न्यूज़ ने ये सर्वे अगस्त के आखिरी हफ्ते में 11,308 लोगों के साथ किया. इस सर्वे में लोगों से ये भी पूछा गया था कि वो आजाद भारत का सबसे मजबूत प्रधानमंत्री किसे मानते हैं. सर्वे में 66.7 फीसदी लोगों ने बताया कि वो नरेंद्र मोदी को सबसे मजबूत प्रधानमंत्री मानते हैं. वहीं, 10.1 फीसदी लोगों ने देश की पहली महिला पीएम इंदिरा गांधी को सबसे मजबूत पीएम माना. इसमें 9.7 फीसदी लोगों ने बताया कि उनकी नज़र में देश के पहले पीएम जवाहर लाल नेहरू अब तक के सबसे मजबूत प्रधानमंत्री रहे हैं. वहीं, 9.7 फीसदी लोगों ने अटल बिहारी वाजपेयी को सबसे मजबूत बताया तो 6.2 फीसदी लोगों ने कहा कि इस पर वो कुछ नहीं कह सकते.


मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल में ये महत्वपूर्ण फैसले लिए 1- जम्मू और कश्मीर से हटा अनुच्छेद 370, लद्दाख बना केंद्र शासित प्रदेश 2- मुस्लिम महिलाओं के लिए नया कानून, तीन तलाक बिल हुआ पास 3- आतंक के खिलाफ कड़े कदम, UAPA बिल बहुमत से पास 4-अमेरिका से आए 8 अपाचे हेलिकॉप्टर, पाकिस्तान और चीन की बंधी घिग्घी 5-देश भर में खोले जाएंगे 75 मेडिकल कॉलेज, बढ़ेंगी MBBS की 15,700 सीटें 6-संशोधित मोटर अधिनियम लागू, गाड़ी के कागजात में कोताही, ढीली होगी जेब 7- नाविकों के लिए बायोमैट्रिक नाविक पहचान दस्तावेज (बीएसआईडी) जारी, ऐसा करने वाला भारत पहला देश 8- जलसंरक्षण पर विशेष जोर, बना नया जलशक्ति मंत्रालय 9- एनएमसी बिल विधेयक पास कराया गया, जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दूरगामी सुधार बताया 10- किसान और व्यापारियों के लिए पेंशन 11- 10 सरकारी बैंक मर्ज होकर 4 बैंक बनेंगे, देश में अब 12 सरकारी बैंक होंगे 12-पीएम किसान सम्मान निधि योजना का दायरा बढ़ा, छोटे-मझोले किसानों को मिल रही 6 हजार की सहायता राशि


सर्वे में लोगों से ये भी पूछा गया कि मोदी सरकार के 100 दिन का कामकाज कैसा है? इस पर 41.6 फीसदी लोगों ने सरकार के कामकाज को शानदार (Excellent) बताया. वहीं 27.4 फीसदी लोग सरकार के कामकाज को अच्छा (Good) माना है. 16.3 फीसदी लोगों ने सरकार के काम को एवरेज बताया है तो वहीं 5.4 फीसदी ने बहुत ही खराब बताया है. इसमें 7.6 फीसदी लोग ऐसे भी थे जिन्होंने कहा कि वो इस बारे में कुछ नहीं कह सकते.