_सोती रहीं जांच एजेंसियां और आग उगलता रहा आसिम

*कमलेश हत्याकांडः दो सौ यूट्यूब वीडियो से युवाओं को गुमराह कर रहा था आसिम*


लखनऊ- एटीएस महाराष्ट्र के हत्थे नागपुर से चढ़ा सैयद आसिम अली के बारे में कई अहम जानकारी जांच एजेंसियों के हाथ लगी है। आसिम के यूट्यूब चैनल से मिले साक्ष्यों ने जांच एजेंसियों के होश उड़ा दिए हैं। इस चैनल के 41 हजार सब्सक्राइबर हैं और आसिम की ओर से लगभग दो सौ वीडियो अपलोड किए गए हैं।


    ठीक दो साल पहले 25 अक्तूबर 2017 को आसिम की ओर से एक वीडियो अपलोड किया गया था जिसके टाइटिल में ही कमलेश को चुनौती देते हुए लिखा है कि गुस्ताखी की सजा सिर्फ मौत। यह वीडियो तब बनाया गया है जब कमलेश तिवारी ने एक विवादित फिल्म बनाने की घोषणा की थी। वीडियो में आसिम कमलेश तिवारी को खुला चैलेंज देते दिखाई दे रहा है और कह रहा है कि ... कमलेश तिवारी तेरे दिन मुकम्मल हो चुके हैं।



जांच एजेंसियों का दावा है कि आसिम ने अपने यूट्यूब चैनलों पर भड़काऊ वीडियो अपलोड करके 40 हजार से अधिक फालोवर बना चुका है। आसिम को गिरफ्तार करने की मांग पूर्व में भी कई अलग अलग संगठनों द्वारा की जाती रही है, लेकिन सोशल मीडिया पर सुबूत की भरमार होने के बावजूद नागपुर पुलिस और एटीएस आसिम को हाथ तक नहीं लगा सकी।
इतना ही नहीं धर्म की आड़ में लोगों को गुमराह करने के लिए वह नागपुर में कई विरोध प्रदर्शन की अगुवाई भी कर चुका है। वह खुद को 'सुन्नी यूथ विंग एंटी टेररिस्ट अर्गनाइजेशन' का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बताता है। कई वीडियो में वह माइनॉरिटी डेमोक्रेटिक पार्टी का भी प्रचार प्रसार करता दिख रहा है।
सूत्रों का कहना है कि आसिम ने अपने यूट्यूब चैनलों के जरिए कई राज्यों में अपने फालोवर बना लिए हैं और इन्हीं के जरिए वह धर्म के नाम पर लोगों को भड़काने का काम करता है। जांच एजेंसियां पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि अन्य राज्यों में आरएसएस और हिंदू संगठनों के लोगों को निशाना बनाया गया है, उसमें भी कहीं आसिम का हाथ तो नहीं।


👉🏻 6 दिन पहले अमित शाह और ओवैसी के खिलाफ उगला था जहर
आसिम का एक वीडियो 6 दिन पहले का अपलोड है, 16 अक्तूबर को पोस्ट इस वीडिया में वह एक सभा को संबोधित करते हुए अमित शाह और ओवैसी बंधुओं को चुनौती दे रहा है। 7 मिनट के इस वीडियो में बाबरी मस्जिद और एनआरसी जैसे से संवेदनशील मुद्दों पर लोगों को भड़का रहा है।_
👉🏻 *_सोती रहीं जांच एजेंसियां और आग उगलता रहा आसिम_*
_हैरत की बात यह है कि आसिम यह यूट्यूब चैनल दो साल से अधिक समय से चला रहा है लेकिन किसी जांच एजेंसी या सुरक्षा एजेंसी की निगाह इस यूट्यूब चैनल पर नहीं पड़ी।_ _


   वह कमलेश तिवारी के अलावा भी कई नेताओं और हस्तियों को खुले आम चुनौती देता दिखाई दे रहा है। सूत्रों का कहना है कि इसके अधिकतर फालोवर नागपुर और गुजरात के रहने वाले हैं। अन्य राज्यों में भी इसके सोशल मीडिया फालोवर हैं लेकिन उनकी संख्या काफी कम बताई जा रही है। फिलहाल जांच एजेंसियां आसिम से लखनऊ में पूछताछ कर रही हैं।