130 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेंगी ट्रेनें

लखनऊ।
    
लगातार हो रहे ट्रैक मेंटेनेंस, इंटरलॉकिंग, रिमॉडलिंग का असर दिखना शुरू हो गया है। इससे ट्रैक स्पीड बढ़ गई है। पहले चरण में ट्रैक स्पीड बढ़ाकर 110 किमी. प्रति घंटा किया गया है। जबकि अगले चरण में इसे बढ़ाकर 130 किमी. करने का काम शुरू कर दिया गया है।
इससे लखनऊ से वाराणसी, सुलतानपुर, रायबरेली, कानपुर आदि के हजारों यात्रियों को राहत हो जाएगी। दरअसल, उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल में छह प्रमुख रेलखण्ड है, जिसमें लखनऊ से वाराणसी, सुल्तानपुर, कानपुर, बाराबंकी कवर हो जाते हैं।
कुल 190 रेलवे स्टेशन हैं और अकेले चारबाग रेलवे स्टेशन से ही 158 से अधिक ट्रेनों का आना-जाना है। मंडल से चलने व गुजरने वाली ट्रेनों से हजारों यात्री रोजाना सफर करते हैं। पर, ट्रैक स्पीड कम होने की वजह से ट्रेनों को तेज गति से नहीं दौड़ाया जा पा रहा था।
डीआरएम उत्तर रेलवे संजय त्रिपाठी ने बताया कि लखनऊ मंडल में ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने का काम शुरू कर दिया गया है। पहले चरण में ट्रैक स्पीड को बढ़ाकर 110 किमी प्रति घंटे तक पहुंचाया गया है।
इसके लिए तीन रेलखण्डों की रफ्तार बढ़ा दी गई है। अगले चरण में ट्रैक स्पीड 130 किमी. तक ले जाने के लिए ट्रायल की तैयारियां की जा रही हैं।