अयोध्या मुद्दे पर फैसले से पहले पुलिस ने जारी की एडवायजरी,कॉल रिकॉर्डिंग का किया खंडन


      राम जन्मभूमि पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए जाने वाले निर्णय से पहले अयोध्या पुलिस की सोशल मीडिया सेल ने एडवायजरी जारी करते हुए सोशल मीडिया पर रोक लगाने व कॉल रिकॉर्डिंग की भ्रामक खबरों का खंडन करते हुए एडवायजरी जारी की है।
     अयोध्या पुलिस ने कहा कि कॉल रिकॉर्डिंग व सोशल मीडिया साइट्स को मॉनिटर किए जाने की खबरें भ्रामक हैं। इन पर भरोसा न करें।
   पुलिस ने एडवायजरी में कहा कि सोशल मीडिया साइट्स जैसे फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्स एप व इन्स्टाग्राम पर किसी भी धार्मिक/साम्प्रदायिक, भ्रामक, असत्य, सौहार्द बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक फोटो, वीडियो व मैसेज को पोस्ट, लाइक व शेयर न करें अन्यथा अफवाह फैलाने या धार्मिक व साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वालों पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।