बनारस का लाल नहीं भरा सका जुर्माना,सालों से नेपाल की जेल में कैद,परिवार वाले भीख मांगने को मजबूर


    वाराणसी। कमाऊ पूत की कमी से घर का क्या हाल होता है इसका अंदाजा वही लगा सकता है जिसने कभी कभार यह देखा हो या ऐसी परिस्थिति को झेला हो।
   वाराणसी के पहडिय़ा इलाके के रमरेपुर निवासी महेंद्र वर्मा का परिवार भी इसी समस्या से बीते तीन सालों से जूझ रहा है। मदद की गुहार हर जिम्मेदार की चौखट पर लगा चुका है, पर कहीं से भी कोई सहारा अब तक नहीं मिला।
      दरअसल, महेंद्र वर्मा अपना खुद का चार पहिया वाहन किराए पर चलाकर परिवार का भरण पोषण करते थे।
  इसी दौरान दिसंबर 2016 में अपनी चार पहिया वाहन पर फल लादकर नेपाल गए थे। रास्ते में महेंद्र की पिकअप से नेपाल के नवलपुर के पास हुई दुर्घटना में एक की मौत हो गई व एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया।