बीजेपी एमएलए आशीष शेलार बोले- विधायकों की पहचान परेड आरोपियों जैसा सलूक

एनसीपी-शिवसेना और कांग्रेस विधायकों की परेड के बाद बीजेपी नेता आशीष शेलार ने कहा है पहचान परेड तो आरोपियों को कराई जाती है, न कि चुने गए विधायकों को। यह तो उन विधायकों का अपमान है, जिन्हें जनता के द्वारा चुना गया।


हाइलाइट्स

  • शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के विधायकों की परेड पर बीजेपी ने निशाना साधा है

  • बीजेपी विधायक आशीष शेलार ने कहा कि परेड आरोपियों की कराई जाती है, विधायकों की

  • पूर्व मंत्री ने कहा, यह तो उन विधायकों का अपमान है, जिन्हें जनता ने चुना है

  • हमारी पार्टी इस 'फोटो फिनिश' रेस को विधानसभा में फ्लोर टेस्‍ट के दौरान जीत लेगी




मुंबई
महाराष्ट्र में शिवसेना, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस के विधायकों की परेड पर बीजेपी ने निशाना साधा है। पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक आशीष शेलार ने कहा है कि पहचान परेड आरोपियों की कराई जाती है, न कि चुने गए विधायकों की। यह तो उन विधायकों का अपमान है, जिन्हें जनता ने चुना है। इस परेड का मजाक उड़ाते हुए शेलार ने कहा कि बीजेपी इस 'फोटो फिनिश' रेस को विधानसभा में फ्लोर टेस्‍ट के दौरान जीत लेगी। इससे पहले केंद्रीय मंत्री मुख्‍तार अब्‍बास नकवी ने भी इशारों-इशारों में तीनों दलों के विधायकों के शपथ पर तंज कसा था


  सोमवार शाम विधायकों की परेड के बाद आयोजित प्रेस वार्ता में आशीष शेलार ने कहा कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के विधायकों की आयोजित 'पहचान परेड' महाराष्‍ट्र की जनता और लोकतंत्र के साथ क्रूर मजाक है। इसकी बराबरी विधानसभा में फ्लोर टेस्‍ट के साथ नहीं की जा सकती है। पूर्व मंत्री ने कहा कि बीजेपी फ्लोर टेस्‍ट में विजयी होगी, हमें इस बात का पूरा विश्‍वास है। होटल में इस तरह से कराई गई विधायकों की परेड सदन में बहुमत साबित करने में किसी तरह से सहायक नहीं होगी।

सोनिया के नाम शपथ पर आदित्‍य ठाकरे पर तंज
शेलार ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे एवं विधायक आदित्य ठाकरे के कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के नाम पर शपथ लेने पर तंज कसा। उन्होंने कहा, 'शिवसेना नेताओं ने कांग्रेस से हाथ मिला लिया है। यह दिखाता है कि उनका हिंदुत्‍व कितना खोखला है।' शेलार ने शक्ति प्रदर्शन के दौरान 162 विधायकों की मौजूदगी पर भी आशंका जताई। उन्होंने कहा, 'आपकी अपनी तस्वीर हो सकती है, ताकत दिखाने के लिए, आपके अपने फटॉग्राफर हो सकते हैं लेकिन यह बीजेपी ही है जो अंतिम समय में देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार के नेतृत्व में जीत दर्ज करेगी।'

आपको बता दें कि मुंबई के एक होटल में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के नेताओं के भाषणों के बाद सभी विधायकों को गठबंधन में रहने की शपथ दिलाई गई है। इन विधायकों को शपथ दिलाई गई, 'सोनिया गांधी, शरद पवार और उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में हम एक साथ रहने की शपथ लेते हैं। महाराष्ट्र ने बीजेपी के खिलाफ मत दिया है और हम उन्हें मदद पहुंचाने जैसा कोई काम नहीं करेंगे।'

तीनों दलों के बड़े नेता रहे मौजूद
शपथ कार्यक्रम के दौरान शरद पवार, उद्धव ठाकरे, छगन भुजबल और अजित पवार की जगह विधायक दल के नेता चुने गए जयंत पाटील भी मौजूद रहे। कांग्रेस से पूर्व सीएम पृथ्वीराज चव्हाण और अशोक चव्हाण भी शामिल रहे। इनके अलावा कांग्रेस के दिग्गज नेता और विधायक बालासाहेब थोराट भी इस बैठक में मौजूद थे। समाजवादी पार्टी के नेता अबू आसिम आजमी भी मौजूद थे।