सत्ता परिवर्तन के लिए दस दिवसीय अभियान की तैयारी में जुटी  कांग्रेस 

 


वाराणसी । कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को प्रदेश की एडवाइजरी कमेटी के साथ बैठक की। इसमें पांच से 15 नवंबर तक शीर्ष नेतृत्व की ओर से प्रस्तावित केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियों के विरुद्ध जनांदोलन पर चर्चा हुई। तय हुआ कि 10 दिनी क्रमिक आंदोलन में जन जागरूकता लाई जाए। इसके लिए विविध आयोजन किया जाए। इसमें एक दिन जिले के प्रमुख बाजारों में थाली (बर्तन) भी पीटेगी।
कांग्रेस के केंद्रीय नेतृत्व की ओर से जारी निर्देशों के सापेक्ष प्रियंका गांधी की अध्यक्षता में दिल्ली के रकाबगंज रोड स्थित 15 नंबर गुरुद्वारा में हुई प्रदेश की एडवाइजरी कमेटी की बैठक को मिशन 2022 के लिए अहम मना जा रहा है। इसमें बनारस से पूर्व सांसद डा. राजेश मिश्र व पूर्व मंत्री अजय राय शामिल थे। कमेटी के सदस्यों को प्रियंका गांधी ने 10 दिन तक होने वाले विविध आयोजनों की जानकारी दी।
इसमें जिले के प्रमुख बाजारों में बर्तन बजाने की रणनीति को केंद्र व प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के लिए जन जागरूकता के परिपेक्ष्य में महत्वपूर्ण माना जा रहा है। तय रणनीति के अनुसार पहले दिन सभी जिले में वरिष्ठ नेताओं की ओर से प्रेसवार्ता की जाएगी। इस कड़ी में जहां डा. राजेश मिश्र बिहार के पटना में प्रेसवार्ता करेंगे तो वहीं अजय राय चंदौली जिला में मीडिया कर्मियों को संबोधित करेंगे। वहीं बनारस में प्रदेश उपाध्यक्ष व पूर्व विधायक ललितेशपति त्रिपाठी शाम चार बजे कैंटोमेंट स्थित एक होटल में प्रेसवार्ता करेंगे।इसमें अजय राय भी मौजूद रहेंगे। छह व सात नंवबर को जिला मुख्यालय से लेकर तहसील स्तर तक पर्चे बांटे जाएंगे जिसमें केंद्र व प्रदेश सरकार की गलत नीतियों को उजागर किया जाएगा। जानकारी दी जाएगी कि गलत नीतियों से देश व जनता किस प्रकार के संकट से गुजर रही है। इसी क्रम में दो दिवसीय किसान चौपाल में सुनवाई होगी जिसमें छुट्टा पशुओं की समस्या प्रमुखता से उठाई जाएगी। शिक्षा नीति, बेरोजगारी, आर्थिक मंदी, कानून व्यवस्था आदि को लेकर कांग्रेसजन 10 दिनों तक क्रमिक आंदोलन करेंगे।